कोरोना वायरस के लक्षण में शामिल दो नई चीजें क्या हैं?

corona virus kya hai
 

कोरोना संक्रमण के कारण दुनियाभर में होने वाली मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लाखों मरीज इस वायरस से संक्रमित हैं। दुनिया भर में अलर्ट चल रहा है। ऐसी स्थिति में, हम आपको बीमारी के लक्षणों, उपचार और रोकथाम के बारे में आवश्यक जानकारी दे रहे हैं ...

कोरोना वायरस इस समय लगभग पूरी दुनिया में फैल चुका है। चीन के शहर वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस अब दुनिया के लिए गंभीर खतरा बन गया है। वर्तमान में हमारे देश में कुछ ढील के साथ लॉकडाउन का पांचवां चरण चल रहा है। अब तक दुनियाभर में बड़ी संख्या में लोगों की जान जा चुकी है। इसके साथ ही इस बीमारी के संक्रमण से जूझ रहे लोगों की संख्या भी पूरी दुनिया में बढ़ रही है। यहां कोरोना वायरस, इसके लक्षणों, उपचार और रोकथाम के बारे में जानने के लिए क्या है ...।

कोरोना वायरस क्या है?

कोरोना वायरस वायरस का एक बड़ा समूह है जो मनुष्यों में सांस की गंभीर समस्याओं से आम सर्दी पैदा कर सकता है । इसके अलावा कोरोना वायरस सार्स और मर्स जैसी घातक बीमारियों का कारण भी बन सकता है। वायरस का नाम इसके आकार के नाम पर रखा गया है। यह वायरस जानवरों और इंसानों दोनों को एक साथ संक्रमित कर सकता है। शोध में पता चला है कि यह कोरोना वायरस सांपों से इंसानों को नागों तक पहुंचा है। यह वायरस जानवरों से संबंधित है और मांस, पोल्ट्री फर्म, सांप, चमगादड़ या फर्म जानवरों के पूरे सेल बाजार में प्रवेश कर चुका है ।



यह वायरस कितना खतरनाक है?

दुनिया भर के स्वास्थ्य अधिकारी इस वायरस को लेकर सतर्क हैं और लोगों को सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं, लेकिन यह वायरस कितना खतरनाक है, इसकी सही जानकारी अब तक नहीं मिल पाई है।


कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण क्या हैं?

कोरोना वायरस श्वसन तंत्र में हल्के संक्रमण का कारण बनता है, जैसा कि आम सर्दी में देखा जाता है। हालांकि इस बीमारी के लक्षण बहुत आम हैं और कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस से पीड़ित नहीं है, फिर इसमें ऐसे लक्षण देखे जा सकते हैं। जैसे-

1. नाक चलाना

2. गंभीर सिरदर्द

3. सूखी खांसी

4. गले में खराश और दर्द

5. थका हुआ और मिचली महसूस करना

6. सांस की कमी

7. निमोनिया

8. ब्रोंकाइटिस


कोरोना वायरस को फैलने से कैसे रोका जाए?

इस घातक कोरोना वायरस के फैलने को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाने की जरूरत है। डब्ल्यूएचओ ने इस जानलेवा बीमारी को फैलने से रोकने के लिए कुछ दिशा-निर्देश भी दिए हैं।

- बीमार रोगियों की ठीक से निगरानी

- श्वसन का मतलब है कि यदि आपको श्वसन रोग के लक्षण दिखाई देते हैं, तो इससे दूर रहें

- जिन देशों में बीमारी फैल गई है, वहां यात्रा करने से बचें

- हाथों को अच्छी तरह से धोएं और हाथों की सफाई का पूरा ख्याल रखें

- खांसते या छींकते समय अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढककर रखें

- अपने हाथों और उंगलियों से बार-बार आंखों, नाक और मुंह को न छुएं

- सार्वजनिक स्थान, सार्वजनिक परिवहन में कुछ भी छूने या हाथ मिलाने से बचें

क्या कोरोना वायरस मौत का कारण बन सकता है?

हालांकि कोरोना वायरस एक आम सर्दी या सर्दी या निमोनिया के रूप में शुरू होता है, लेकिन अगर मामला गंभीर हो जाता है, तो यह संक्रमण गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम, गुर्दे की विफलता या कई अंग विफलता का कारण बन सकता है, जो मौत का कारण बन सकता है।


क्या है कोरोना वायरस का इलाज

हालांकि इस बीमारी से लड़ने के लिए अभी तक कोई टीका तैयार नहीं किया गया है, लेकिन अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के एनआईएच के अधिकारियों ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण फैलने वाली वायरल निमोनिया की इस बीमारी से लड़ने के लिए वैक्सीन बनाई जा रही है। और जल्द ही इसका मानव परीक्षण यानी मनुष्यों पर परीक्षण शुरू हो जाएगा। इसके अलावा इसका इलाज एक आम सर्दी-जुकाम की बीमारी की तरह किया जाता है, जिसमें काफी आराम करने, ज्यादा तरल पदार्थ खाने और बुखार और गले में खराश की दवा लेने की सलाह दी जाती है।


हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि अगर आप या आपके घर में कोई लंबे समय से बीमार है तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। इस बीमारी में थोड़ी सी लापरवाही भी व्यक्ति को मौत के करीब ला सकती है। इसलिए साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें और अगर बहुत जरूरी न हो तो घर से बाहर न निकलें।

Post a Comment

0 Comments